NO DRINKING


TEA


#1. चाय में काफी मात्रा में कैफीन नामक तत्व होता है जो नशा अभी करता है. इसलिए ज्यादा चाय पीने से बेचैनी और घबराहट बढ़ती है.


 


#2. चाय में टॉयलीन और टैनिन नामक तत्व होते हैं जिनका ज्यादा मात्रा में सेवन करने से पेट में विकार हो सकते हैं तथा इनडाइजेशन हो जा सकता है.


 


#3. इंग्लैंड में की गई एक स्टडी के अनुसार चाय में फ्लोराइड की अधिक मात्रा होती है. जिसके कारण शरीर की हड्डियां कमजोर हो सकती है.


 


#4. हर कोई जानता है कि ज्यादा नींद आने पर चाय पी जाती है. ऐसा चाय में मौजूद फाइटोकेमिकल्स के कारण होता है. लेकिन ज्यादा चाय पीने से नींद ना आने की समस्या हो सकती है.


 


#5. चाय में मौजूद कैफीन का एक दुष्प्रभाव हमने आपको ऊपर बता चुके हैं. लेकिन कैफीन के कारण एक नई प्रॉब्लम भी आ सकती है जिसके फलस्वरूप चाय ना मिलने पर थकान, सिरदर्द तथा अनिद्रा की शिकायत हो सकती है.


 


#6. ब्रिटेन में हुए एक नए अध्ययन के मुताबिक ज्यादा गरम चाय पीने से मुंह से पेट को जोड़ने वाली नलिया कमजोर तथा डैमेज होती है. जिससे कैंसर भी हो सकता है.


 


#7. एक अध्यन के मुताबिक पांच कप से ज्यादा चाय पीने से पेशाब की मात्रा 400 से 500 पर्सेंट तक बढ़ जाती है. जिससे किडनी पर ज्यादा प्रेशर बढ़ता है और किडनी से जुड़ी समस्याएं हो सकती है.


 


#8. ज्यादा चाय पीने से बार-बार पेशाब आने की समस्या होती है जिसके कारण शरीर के लिए जरूरी मिनरल्स जैसे पोटेशियम, सोडियम बाहर निकल जाते हैं. जिस कारण शरीर में कमजोरी बढ़ती है.


 


#9. चाय मैं मौजूद कैफीन के कारण शरीर गर्म होता है और यूरिन भी ज्यादा आता है. जिसके कारण ज्यादा पानी बॉडी से बाहर निकलने से डीहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है.


 


#10. चाय में अल्मुनियम जैसे कई टॉक्सिंस भी होते हैं जिनसे त्वचा की समस्या, चेहरे पर दाग धब्बे की समस्या या रैशेज की समस्या भी हो सकती है.


 


 





 


SONA DENTAL (Mithapur)

Dr.Neelabha Krishnan